Hair Care in Rainy Season

Hair care in rainy season is very important. With the increase of humidity in the rainy days, bacterial and fungal infections also increases. Its effect is visible on hairs and skin. Due to excessive hair fall, blisters on the head, thickening of the sticky layer on the scalp or dandruff pointing to hair fungal infections. It is important that you take extra hair care in rainy season and consult with a dermatologist. Here are some easy tips that will help you to keep your hairs healthy-

Causes of Infection

The skin of our head is dark and there is also moisture and warmth, which helps in developing microorganisms. Sweat accumulates on the scalp due to both moisture and heat in the rainy season. Sweat and dead cells perform nutrition work for these germs. This is the reason why the fungal infections increase in the rainy season. When we apply oil or serum on the scalp, the fungus breaks them into small pieces and produces a substance called fatty acids. So the hair care in rainy season is very important.

This is how to take hair care in rainy season

2 times shampoo a week

Shampoo twice a week to keep a healthy and clean scalp. Also after taking bath in the rain, wash the hair thoroughly with the clean water because if the rain water stays on the scalp for long time, then the possibility of itching and infections increases.This also causes dandruff problems. Always shampoo from root to tip. One more thing that can make your hair look attractive is the use of conditioner, it will make your hair soft, shiny and healthy.

Dry your hair

It is important to keep the head dry. After getting wet in the rain, dry your hair properly otherwise the moisture will remain in the hair and there will be chance of fungal infection. Prevent hair from rain water as it is messy and acidic. Do not comb in wet hair and don’t bind them. Use a microfiber towel to dry your hair as it absorbs the water very quickly.

Oil Massage

Nothing is as good for your hair during the monsoon as a good hair oil massage. By applying oil in hair, hair strands get strength to maintain moisture naturally. It helps to prevent the problem of dryness in the hair. continue oil massage until the scalp absorbs it and it is very important for hair care in rainy season. For deep conditioning, keep a hot water soaked towel on head for half an hour after oil massage.

Do not tighten hair

Do not tie the hair until it gets dry well. Tying up the hair tight is not good in monsoon because it leads to trapping of rain water in the hair and the humidity makes the hair even more frizzy. Try to avoid hair styles and instead of it make loose buns or loose ponytails in this season and prevent hair from humidity.

Eat right for hair care in rainy season

Only the external modification for the hair care in rainy season is not enough. Rather, you must go for the right diet. In order to strengthen your hair, you must eat foods that are rich in protein because protein is the most important nutrient for healthy hair. you can also take the foods that are in iron, vitamins and omega 3 fatty acids like flax seeds, walnuts, spinach, cheese and curd etc.

 

In Hindi :-
हिंदी में :-

 

बारिश के मौसम में बालों की देखभाल

बारिश के दिनों में वातावरण में नमी बढ़ने के साथ ही बैक्टीरियल और फंगल इन्फेक्शन भी बढ़ने लगते हैं | इसका असर बालों और त्वचा पर दिखाई देता है | बालों का ज्यादा गिरना, सिर पर फुंसिया होना, स्कैल्प पर चिपचिपी परत का जमना या डैंड्रफ हेयर फंगल इन्फेक्शन की और इशारा करती है | ऐसे में ज़रूरी है की आप अपने बालों की एक्स्ट्रा केयर करे और डर्मेटोलॉजिस्ट से सलाह ले | यहां कुछ आसान सुझाव दिए गए हैं जो आपको अपने बालों को स्वस्थ रखने में मदद करेंगे –

इसलिए होता है इन्फेक्शन

हमारे सिर की त्वचा डार्क होने के साथ ही इसमें नमी और गर्माहट होती है, जो माइक्रो ऑर्गेनिस्म यानि कीटाणुओं को विकसित होने में मददगार होते है | बारिश के मौसम में नमी और गर्मी दोनों की वजह से स्कैल्प पर पसीना जमा होने लगता है | पसीना और मृत कोशिकाएं इन कीटाणुओं के लिए पोषण का काम करता है | यही वजह है की मौसम में फंगल इन्फेक्शन बढ़ जाता है | स्कैल्प पर तेल या सीरम लगाने पर फंगस इन्हे छोटे छोटे टुकड़ो में तोड़कर एक तत्व उत्पन्न करता है, जिसे फैटी एसिड कहते है |

ऐसे रखे बालों का ख्याल

सप्ताह में दो बार शैम्पू करे

स्वस्थ और स्वच्छ स्कैल्प रखने के लिए सप्ताह में दो बार शैम्पू करे. साथ ही बारिश में भीगने के बाद साफ़ पानी से बालो को अच्छी तरह धोए क्योंकि लम्बे समय तक बारिश का पानी स्कैल्प पर जमा रहता है तो खुजली और इन्फेक्शन की आशंका बढ़ जाती है | इससे डैंड्रफ की समस्या भी हो जाती है | हमेशा रूट से नोक तक शैम्पू करें | कंडीशनर का उपयोग करके भी आप अपने बालों को आकर्षक बना सकते हैं, यह आपके बाल नरम, चमकदार और स्वस्थ बनता है |

बालों को सुखाएं

सिर को सूखा रखना ज़रूरी है | बारिश में भीगने के बाद बालों को अच्छी तरह सुखाये नहीं तो बालों में नमी बनी रहेगी और फंगल इन्फेक्शन का खतरा बना रहेगा | बारिश के पानी से भी बालों को बचाएं क्योंकि यह गन्दा और एसिडिक होता है | गीले बालों में ना तो कंघी करे और ना ही उन्हें बांधे | अपने बालों को सुखाने के लिए आप माइक्रोफ़ाइबर तौलिया का प्रयोग कर सकते हैं क्योंकि यह पानी को बहुत जल्दी से सोखता है |

तेल मालिश

मानसून के दौरान बालों में तेल मालिश से अच्छा आपके बालों के लिए कुछ भी नहीं है | बालों में तेल लगाने से हेयर स्ट्रैंड्स को प्राकृतिक तौर पर नमी बनाये रखने के लिए मजबूती मिलती है | इससे बालों में रूखेपन की समस्या से निजात मिलती है | तबतक ऑइल से मसाज करना चाहिए जबतक कि स्कैल्प उसे अवशोषित नहीं कर लेता | डीप कंडीशनिंग के लिए तेल से मसाज के बाद गर्म पानी में भीगा तौलिया सिर पर रखे |

बालों को टाइट ना बांधे

बाल जब तक अच्छी तरह सूख न जाये तब तक उसे बांधें नहीं | गीले बालों में तौलिया बांधना भी सही नहीं है. इससे बाल टूटते है | बाल खोलकर ही उसे सुखाएं | इस मौसम में ढीला जूडा या हलकी बंधी हुई चोटी बनाएं और हुमिडीटी से बालों को बचाएं |

सही खाएं

बरसात के मौसम में बालों की देखभाल के लिए केवल बाहरी संशोधन पर्याप्त नहीं है | बल्कि, आपको सही भोजन लेना भी जरुरी है । अपने बालों को मजबूत करने के लिए आपको आंवला, अलसी, अखरोट, पालक, पनीर और दही जैसे प्रोटीन, आयरन, विटामिन्स और ओमेगा 3 फैटी एसिड में समृद्ध पदार्थ खाने चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.